"मेरे पिता मेरे लिए एक ड्रैगन की तरह रहे है" : युवराज सिंह

युवराज सिंह | Getty

युवराज सिंह ने हमेशा अपने पिता और पूर्व भारतीय क्रिकेटर योगराज सिंह को एक अंतरराष्ट्रीय क्रिकेटर के रूप में लगभग 19 वर्षों तक अपने जीवन में मिली सभी सफलता के लिए श्रेय दिया है| लेकिन उन्होंने यह भी स्वीकार किया है कि उनके पिता के साथ वर्षों से उनका संबंध कुछ खास नहीं रहा है, खासकर कि उनके बड़े होने के वर्षों के दौरान|

सोमवार को युवराज ने मुंबई में एक प्रेस कॉन्फ्रेंस में अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट से संन्यास लेने की घोषणा की और इस दौरान उन्होंने अपने पिता के बारे में भी बात कि जहाँ उन्होंने बताया कि उनके पिता ने उनके जीवन में बचपन के दिनों में किस तरह की भूमिका निभाई थी|

युवी ने कहा कि, "मैंने कुछ दिनों पहले इसके साथ शांति बनाई हुई थी जब मैं अपने पिता के साथ इसके बारे में बात कर रहा था| मैंने उनसे बात की और एक बच्चे के रूप में मेरे अंदर के सभी राक्षस बाहर आ आगये| मेरे लिए यह बहुत ही शांतिपूर्ण पल था|"

उन्होंने कहा कि, "मैंने पिछले 20 वर्षों से उनके साथ कभी भी बात नहीं की है| वह हमेशा मेरे लिए एक ड्रैगन की तरह रहे है| बस ड्रैगन को स्वीकार करना बहुत मुश्किल समय था| मेरे और मेरे पिता के बीच अब बहुत अलग रिश्ता है, मुझे लगता है कि दोनों ही बड़े हो गए हैं| मैं तो बड़ा हो गया हूँ, लेकिन मैं उनके बारे में नहीं जानता (हंसते हुए)|"

युवराज ने आगे कहा कि, "मैंने उनके साथ सब समाप्त कर दिया हैं| उन्होंने मुझे कभी भी किसी अन्य खेल को खेलने के लिए प्रोत्साहित नही किया,  जिसने मुझे हमेशा एक युवा बच्चे के रूप में डर लगता था| सौभाग्य से मेरे लिए, बाद में मेरे करियर में मुझे क्रिकेट खेलने में मज़ा आने लगा और इससे कुछ अच्छा हुआ| मेरी यात्रा के बारे में अपने माता-पिता और परिवार के साथ बात करने का यह एक बहुत ही सुंदर पल था| मैं इसकी समाप्ति करने की तलाश कर रहा था और आज का दिन सही रहेगा|"

 
 

By Pooja Soni - 10 Jun, 2019

    Share Via