आकाश चोपड़ा ने एमएस धोनी की इस ख़ास बात पर दिया ध्यान जिसे वह प्रशिक्षण सत्र के दौरान टालना पसंद करते हैं

एमएस धोनी | Getty

एमएस धोनी को एक बहुत ही अनुशासित व्यक्ति के रूप में जाना जाता है और इसका एक मुख्य कारण यह है कि वह 37 वर्ष के हैं और अभी भी दौड़ रहे हैं और अपने व्यापार को अंतरराष्ट्रीय स्तर पर विशेषज्ञ रूप से पेश कर रहे हैं|
 
इस बीच, पूर्व भारतीय क्रिकेटर आकाश चोपड़ा ने एक ऐसी कवायद पेश की, जिसे धोनी प्रशिक्षण सत्र के दौरान टालना पसंद करते हैं| अनुभवी कमेंटेटर ने हैमिल्टन के सेडन पार्क में खेले गए तीसरे और अंतिम T20I में अपने कमेंटरी के कार्यकाल के दौरान उसी पर विचार व्यक्त किया|

उन्होंने कहा था कि, "हमने एक कीपर के रूप में उनकी पारी की संख्या के बारे में बात की थी, लेकिन आप उन्हें कभी उन्हें इसे जारी रखते हुए नहीं देखेंगे| केवल मैचों में ही वह दस्ताने पहनेंगे| खेल से पहले अभ्यास सत्र में, खेल से पहले या खेल की पूर्व संध्या पर वार्म-अप सत्र के दौरान अपन उन्हें कभी भी दस्ताने पहने हुए नहीं देखेंगे|"

उन्होंने कहा कि, "वह नेट्स में गेंदबाजी, बल्लेबाज़ी, गेंदबाजी स्पिन, तेज गेंदबाजी करते हैं, लेकिन आप उन्हें ग्लव्स पहने हुए नहीं देखेंगे| और फिर भी, वह एक अच्छे विकेटकीपर हैं|"  

चोपड़ा ने इस बात का भी उल्लेख किया कि धोनी उन चीजों में घिरे हैं, जहाँ तक ​​नेतृत्व का संबंध है, इसके बावजूद वह एक नामित कप्तान नहीं हैं| धोनी ने जनवरी 2017 में इंग्लैंड के खिलाफ भारत की घरेलू श्रृंखला के दौरान तीनों प्रारूपों से कप्तानी छोड़ दी थी, जिसके बाद से ये जिम्मेदारी विराट कोहली संभाल रहे हैं|

चोपड़ा ने कहा हैं कि, “दूसरी बात जो हम देख रहे हैं, भले ही वह एक नामित कप्तान नहीं हैं, लेकिन एक नेतृत्वकर्ता हैं| जो कि उनके करियर का एक बड़ा हिस्सा है|"


By Pooja Soni - 11 Feb, 2019

    Share Via