वसीम जाफर ने रणजी ट्रॉफी की चैंपियन टीम विदर्भ के लिए नि:शुल्क खेलने का लिया फैसला

वसीम जाफर

एक पेशेवर खिलाड़ी होने के बावजूद, वसीम जाफर ने रणजी ट्रॉफी अभियान के दौरान अपनी सेवाओं के लिए विदर्भ क्रिकेट संघ से अतिरिक्त रुपए का भुगतान न करने का फैसला लिया हैं |

चोट के कारण पिछले सत्र में उनके खेलने में असमर्थ होने के बावजूद, वीसीए ने उनके अनुबंध को सम्मानित करने के बाद, पूर्व भारत और मुंबई के सलामी बल्लेबाजों का पुनर्गठन किया |

जाफर ने शुक्रवार को वीसीए द्वारा आयोजित सम्मान समारोह में भाग लेने के बाद, हिंदुस्तान टाइम्स से बात करते हुए कहा हैं कि, "मेने पिछले सत्र (2016-17) में उनके साथ एक अनुबंध किया था | जहां मुझे तीन किश्तों में अक्टूबर, जनवरी और मार्च में भुगतान किया गया था | वे चाहते थे कि मैं रणजी ट्रॉफी अभियान में एक अहम भूमिका निभाऊ | लेकिन मैं अपनी चोट के कारण ऐसा नहीं कर पाया, लेकिन  उन्हें मुझे भुगतान करने के लिए कभी भी झिझक नहीं हुई |"

उन्होंने बताया कि, "अक्टूबर में, मैं चोट के कारण उपलब्ध नहीं हो पाया था, इसलिए उन्होंने भुगतान नहीं किया था, जो कि उचित था | लेकिन जनवरी में, मैं खेलने के लिए बिलकुल फिट था, लेकिन उन्होंने मेरी सेवाओं (सीमित ओवरों टूर्नामेंट के लिए) का उपयोग नहीं किया और उन्होंने मेरे अनुबंध का सम्मान भी किया और मुझे पूरी रकम का भुगतान भी किया | इसलिए मैं उनके इस एहसान का भुगतान करना चाहता हु और मैंने उनसे आग्रह किया था कि मैं इस मौसम में उनके लिए नि: शुल्क खेलूँगा | मेरे इस फैसले ने दोनों ही पक्षों के लिए अच्छा काम किया |"

जाफर, जिन्होंने इसके पहले  मुंबई कि टीम के साथ आठ रणजी खिताब जीते थे और नोवा ख़िताब उन्होंने विदर्भ के साथ जीता, ने विदर्भ के साथ जुड़ने के अपने फैसले के बारे में बताया कि, "मैं एक ऐसा स्थान चाहता था, जहां मैं खेल का हिस्सा बनु और मैं युवाओं के मार्गदर्शन के जरिए उनके क्रिकेट में कुछ योगदान करना चाहता था | और आखिरकार मैंने सही निर्णय लिया है |'

उन्होंने आगे कहा कि, "विदर्भ में अच्छी तरह से खेलने का एक दृष्टिकोण है | वे अपने युवाओं को अच्छी तरह से खेलता हुआ देखना चाहते हैं | उनका ये विकास साल 2009 में तब शुरू हुआ, जब उन्होंने आवासीय अकादमी की स्थापना की थी और यह दिखाया कि वे अपने क्रिकेट में सुधार करना चाहते हैं |और अब उनके तीन खिलाड़ी एशिया कप के लिए भारत अंडर -19 टीम में हैं |"


 

 


By Pooja Soni - 08 Jan, 2018

    Share Via