श्रीलंकाई ऑलराउंडर दासुन शनाका ने ईस्टर के अवसर की उस भयानक पल के बारे में की बात

 दासुन शनाका | Getty

रविवार को श्रीलंका में हुए 8 बम धमाकों ने पूरी दुनिया को हिलाकर रख दिया हैं|

इन बम धमाकों में श्रीलंका के होटलों और गिरजाघरों को निशाना बनाया गया, जिसमे करीब 300 लोग मारे गए और तकरीबन 500 लोग घायल हुए| इन्हीं धमाकों से श्रीलंकाई ऑलराउंडर दासुन शनाका का परिवार भी प्रभावित हुआ है| जिसके बाद शनाका ने उस पल को काफी भयानक बताया हैं| 

जिसके बाद शनाका ने ईएसपीएनक्रिकइंफो से बात करते हुए इस भयानक पल के बारे में बात की| उन्होंने कहा कि, "मैं आमतौर पर ईस्टर समय हमेशा ही चर्च जाता हूँ, लेकिन रविवार को वो कहीं और जाने कि वजह से मैं बहुत थका हुआ था, इसलिए मैं चर्च नहीं गया था| और माँ और दादी चर्च गए थे| संहभ जब मैं घर पर था, तो मैंने कुछ आवाज़े सुनी और लोग कह रहे थे कि चर्च में बन धमाका हुआ हैं और फिर हम भी वहाँ तुरंत पहुंचे और नजारा देखकर मैं दंग रह गया|"

शनाका ने बताया कि, "पूरा चर्च ध्वस्त हो चुका था और लोग घसीट-घसीटकर लाशें बाहर निकाल रहे थे| सबसे पहले मुझे मेरी माँ मिलीं तो उन्हें तुरंत ही अस्पताल भेजा गया और इसके बाद मैंने अपनी  दादी को ढूंढना शुरू किया, क्योंकि धमाके के समय वह अंदर ही थीं और चर्च का हाल देखकर मुझे उनके बचने की सम्भावना कम लग रही थी|"

"लेकिन मैंने देखा कि मेरी दादी एक पार्टीशन माध्यम से बच गईं हैं| और उनके आसपास पड़े लोग सब अपनी जान गंवा चुके थे, लेकिन ये करिश्मा ही था कि मेरी  दादी के सिर्फ सिर पर चोट आई, जिसके लिए उनकी सर्जरी कर्णवाणी पड़ी|"

 
 

By Pooja Soni - 23 Apr, 2019

    Share Via