गौतम गंभीर करोल बाग में हुए भीषण अग्निकांड के बाद कठोर प्रबंध कर्ताओ पर भड़के

गौतम गंभीर

पूर्व भारतीय बल्लेबाज़ और दिल्ली क्रिकेटर गौतम गंभीर ने मंगलवार (12 फरवरी) सुबह राजधानी के करोल बाग इलाके के होटल अर्पित पैलेस में हुए भीषण अग्निकांड के बाद प्रबंध कर्ताओ की कड़ी आलोचना की हैं|

खबरों के अनुसार इस भीषण अग्निकांड ने नौ लोगों के घायल होने के साथ ही 17 लोगों के जीवन को ख़त्म करने दावा किया है और ये संख्या आगे बढ़ भी सकती हैं| पूर्व भारतीय क्रिकेटर ने कहा हैं कि होटल गौतम गंभीर फाउंडेशन के कार्यालय के पास ही है और नियमों और विनियमों के बारे में पता था, जिन्हें व्यावसायिक हितों के नाम पर अनदेखा किया जा रहा था|

गंभीर ने ट्वीट करते हुए कहा हैं कि, "मानव जीवन के नुकसान के साथ व्यापार के निर्माण के कानूनों के संबंध में प्रबंध कर्ताओ की विनम्रता को देखना बहुत ही दुखद है| यह होटल जीजीएफ कार्यालय के ठीक बगल में है और मैं प्रत्यक्ष रूप से जानता हूँ, कि व्यावसायिक नियमों के लिए पार्किंग नियमों, भवन कानूनों को आसानी से कैसे पूरा किया जाता है|'

बचाव कार्यों के संचालन के लिए कम से कम 25 फायर टेंडर्स ने सुबह 4.30 बजे कॉल का जवाब दिया था| दिल्ली सरकार ने घटना की आधिकारिक जांच के आदेश दिए हैं, जबकि 13 शवों को राम मनोहर लोहिया (आरएमएल) अस्पताल में स्थानांतरित कर दिया गया हैं और शेष चार को लेडी हार्डिंग मेडिकल कॉलेज और बीएलके अस्पताल में ले जाया गया|
 


By Pooja Soni - 12 Feb, 2019

    Share Via