ट्रेंट वुडहिल के अनुसार विराट कोहली; मेस्सी, रोनाल्डो फेडरर जैसे सुपरस्टार्स की लीग में हैं

विराट कोहली | Getty

इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) में विराट कोहली के साथ काम करने वाले ट्रेंट वुडहिल ने भारतीय कप्तान को अन्य खिलाड़ियों से अलग करने और कैसे अपने खेल को "सिद्ध" करने का श्रेय दिया है|
 
Foxsports.com.au की रिपोर्ट के अनुसार वुडहिल ने कहा हैं कि, "मैंने पहले भी कहा है कि वह लियोनेल मेस्सी, क्रिस्टियानो रोनाल्डो, रोजर फेडरर और राफेल नडाल के समान ही समताप मंडल में है| वह उनके बराबर ही है|"

पूर्व रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर कोच का कहना हैं कि, "विराट वास्तव में जानना चाहते थे कि उनका नेतृत्व अच्छी स्थिति में था और वह बिना किसी बाधा के गेंद को एक्सेस करने में सक्षम थे| सर्वश्रेष्ठ तकनीकी रूप से केंद्रित नहीं हैं| वे यह सुनिश्चित करने में हैं कि उनके खेल के मूल पैरामीटर क्रम में हैं कि नहीं|"

वुडहिल ने आगे कहा हैं कि, "वे यह सुनिश्चित करना चाहते हैं कि वे क्रीज पर संतुलित हों और वे खेल की स्थिति को अनुकूलित करने में सक्षम हैं और यही कारण है कि उन्हें इतना अच्छा बना दिया जाता है|"

वुडहिल ने कहा हैं कि, "इस सीज़न से पहले इंग्लैंड में उनके बारे में बहुत सी बाते हुई थी कि वह किस सीमा पर विजय प्राप्त नहीं कर पाए थे, लेकिन वह बाहर आए और कठिन परिस्थितियों के माध्यम से इंग्लैंड की गर्मी में अच्छा प्रदर्शन किया और केवल अपने खेल को सिद्ध करने के माध्यम से खेला|"

उंन्होने कहा कि, "अपने खेल को सिद्ध करना, इसे बदलना नहीं हैं| वास्तव में महान खिलाड़ियों और अच्छे खिलाड़ियों के बीच यह बड़ा अंतर है| महान खिलाड़ी हर समय सिद्ध होते हैं, जबकि अच्छे खिलाड़ी अक्सर अपना खेल बदलते हैं|"
 
वुडहिल ने कहा कि, "वे उन असुविधाजनक फैशनों में प्रशिक्षित होने के लिए तैयार हैं, जिस माहौल में वे खेल रहे हैं, उसमें सफल होने का प्रयास करने के लिए रास्ता तलाशने के लिए तैयार हैं| यही वह है, जो विराट दुनिया में किसी और की तुलना में बेहतर कर रहा है|"
 


By Pooja Soni - 06 Dec, 2018

    Share Via