IND v WI 2018 : क्रुणाल पांड्या के कोच जितेंद्र सिंह डेब्यू मैच में ऑलराउंडर के प्रदर्शन से हैं संतुष्ट

क्रुणाल पांड्या | AFP

क्रुणाल पांड्या के कोच जितेंद्र सिंह की ख़ुशी का कोई ठिकाना नहीं रहा होगा, जब ऑलराउंडर ने कोलकाता में रविवार की रात भारत के लिए अपना T20 डेब्यू किया और टीम प्रबंधन द्वारा उन पर दिखाए विश्वास पर खरे भी उतरे|  

कोलकाता में तीन T20 अंतरराष्ट्रीय मैचों की सीरीज के पहले मैच में वेस्टइंडीज के खिलाफ अक्टूबर 2016 में छोटे भाई हार्दिक पांड्या के वनडे डेब्यू के दो साल बाद क्रुणाल को राष्ट्रीय कैप पहनने का मौका मिला|

27 वर्षीय क्रुणाल (9 गेंदों में नाबाद 21) ने निराश नहीं किया, क्योंकि उन्होंने दिनेश कार्तिक के साथ एक मुश्किल स्कोर का पीछा करते हुए घरेलु टीम का मार्गदर्शन किया और 18वें ओवर में केमो पॉल की गेंद पर चौका भी मारा|

जितेंद्र ने पीटीआई से बात करते हुए बताया कि, "हां क्रुणाल ने अच्छी स्थिति में और खेल के अनुसार बल्लेबाजी की, जो कि एक अच्छी बात है| मैं बहुत संतुष्ट हूँ और यहाँ हमेशा सुधार का स्कोर होता है| मेरे कोचिंग दर्शन में यहाँ एक मैच खत्म हो रहा है|"

सोमवार को हार्दिक को भी प्रशिक्षित करने वाले कोच ने कहा कि, "एक अच्छा खिलाड़ी वह हैं जो मैच को ख़त्म करे और आपको इसे किसी और के लिए नहीं छोड़ना चाहिए| और उसने (क्रुणाल) ने कल जो किया, वह मेरे लिए अधिक संतोषजनक था|"

36 वर्षीय जितेंद्र के अनुसार बाएं हाथ के बल्लेबाज और धीमी हाथ के रूढ़िवादी गेंदबाज क्रुणाल एक खिलाड़ी के रूप में "परिपक्व" हो गए हैं| जितेंद्र ने कहा कि, "एक यू -23 मैच था और वह बड़ौदा की टीम में था| लेकिन उस विशेष मैच के बाद, उसे (क्रुणाल) टीम से निकाल दिया गया था| उसके बाद, उन्होंने (खेल पर) और अधिक ध्यान केंद्रित करना शुरू किया|"
 
कोच ने कहा, "इसके बाद उन्होंने खेल की ओर कड़ी मेहनत करना शुरू कर दिया और खेल के प्रति उनका दृष्टिकोण बदल गया|"


By Pooja Soni - 06 Nov, 2018

    Share Via