Watch: युजवेंद्र चहल ने धोनी के साथ अपनी पहली मुलाक़ात का किस्सा किया साझा

महेंद्र सिंह धोनी और युजवेंद्र चहल| AFP

टीम इंडिया के लिए हाल के दिनों में सीमित ओवर क्रिकेट में एक सुखद समय है। भारत को व्हाइट बॉल क्रिकेट में युजवेन्द्र चहल और कुलदीप यादव के रूप में एक बहुत सफल स्पिन गेंदबाजी जोड़ी मिली है। हाल ही में, टीम इंडिया ने टी 20 आई श्रृंखला में इंग्लैंड को हराया और अब एकदिवसीय सीरीज़ पर हावी होने के बारे में सोच रही है।

जब इस साल की शुरुआत में भारतीय टीम ने दक्षिण अफ्रीका का दौरा किया था, तो इन स्पिन जुड़वाओं ने एकदिवसीय श्रृंखला में 33 विकेट चटकाए थे। भारतीय टीम इंग्लैंड में इसी तरह के प्रदर्शन की उनसे उम्मीद कर रही है।

'व्हाट द डक!' नामक एक वेब कार्यक्रम में युजेंद्र चहल और कुलदीप यादव कार्यक्रम के मेजबान विक्रम साठ्ये के साथ अपना अनुभव साझा करते दिखे। कार्यक्रम में उन्होंने कुछ बहुत ही रोचक खुलासे भी किए। कुलदीप ने कहानी सुनाई जब ऑस्ट्रेलियाई खिलाडियों ने उनके उपर टिपण्णी की थी|

चहल और कुलदीप ने अक्सर एमएस धोनी को अपनी सफलता का श्रेय दिया है। वे यह स्वीकार करने में कभी शर्मिंदा नहीं हुए हैं कि धोनी उन्हें स्टंप के पीछे से सर्वश्रेष्ठ सुझाव देते। कार्यक्रम में, दो स्पिनरों ने बताया कि धोनी के पास गेम को बहुत जल्दी पढ़ने की उत्कृष्ट क्षमता है। इसके अलावा, एक दिलचस्प बात को याद करते हुए युजेंद्र चहल ने एमएस धोनी के साथ अपनी पहली मुलाक़ात को याद किया।

चहल ने पहली बार जिम्बाब्वे में भारतीय टीम में धोनी से मुलाकात की। वह धोनी को 'धोनी सर' के रूप में संबोधित करते थे। जिसके बाद धोनी ने बडी ही नम्रता से उन्हें बोला कि "माही, एमएस धोनी, धोनी, महेंद्र सिंह धोनी मुझे कुछ भी बुलाओ लेकिन मुझे 'सर' नहीं कहना|”


By Akshit vedyan - 11 Jul, 2018

    Share Via