वीरेंद्र सहवाग ने 72 वर्षीय महिला टाइपिस्ट को बताया सुपर वुमन और किया प्रणाम

Virender Sehwag was amazed with the dedication of this 72 year old lady typist

भारतीय टीम के पूर्व सलामी बल्लेबाज वीरेंद्र सहवाग अपने समय में मैदान पर जिस तरह से अपनी बल्लेबाज़ी से गेंदबाज़ो को छकाते थे, उसे देखकर दुनिया में हर कोई उनकी तारीफ करता नहीं थकता था, लेकिन सहवाग की मुलाकात एक ऐसी महिला से हुई हैं, जिसे वह सुपरवुमन मानते हैं |

मध्य प्रदेश के सिहोर जिले में रहने वाली 72 वर्षीय लक्ष्मी वर्मा की टाइपिंग गति इतनी तेज़ हैं, मानो कि कोई रोबोट मशीन को चला रहा हो |

इस बुजुर्ग महिला की फुर्ती और काबलियत देखकर न सिर्फ सहवाग बल्कि पूरी दुनिया ही हैरान में पड़ गई हैं | इस बुजुर्ग महिला की फुर्ती इतनी ज्यादा हैं, कि किसी नौजवान में भी इतनी फुर्ती नहीं होगी |

जब एक व्यक्ति ने इस बुजुर्ग महिला का वीडियो बनाकर सोशल मीडिया पर डाला हैं तब से ही वे सुखियो में छाई हुई हैं | यहाँ तक कि खुद लक्ष्मी वर्मा को भी यकीन नहीं हो रहा हैं कि वे एक सेलिब्रिटी बन गई हैं | इन दिनों सोशल मीडिया पर उनका ये वीडियो काफी वायरल हो रहा हैं | जिसके बाद सहवाग ने भी अपने टि्वटर अकाउंट पर इस वीडियो को शेयर किया है | सोशल मीडिया पर बहुत से लोग इस बुजुर्ग महिला को टाइपिस्ट अम्मा कहकर बुला रहे हैं |

72 वर्षीय लक्ष्मी वर्मा की टाइपिंग स्पीड बहुत ही तेज़ हैं | इस उम्र में भी उनका ये जोश काबिले तारीफ है | रिपोर्ट के अनुसार वे सिहोर जिले के कलेक्टर में टाइपिस्ट का काम करती हैं | सहवाग ने भी इस बुजुर्ग महिला का वीडियो शेयर करते हुए लिखा है कि, "मेरे लिए यह सुपरवुमेन हैं | युवाओं को इनसे बहुत कुछ सीखना चाहिए | यह हमें बताता है कि कोई भी काम छोटा नहीं होता और सीखने या काम करने की कोई उम्र नहीं होती. प्रणाम |" 

टाइम्स ऑफ़ इंडिया कि रिपोर्ट के अनुसार मीडिया से बात करते हुए लक्ष्मी वर्मा ने कहा हैं कि, "मैं पिछले 12 सालों से यहां काम कर रही हूँ | मैंने इंदौर में एक प्रिंटिंग प्रेस में काम करते हुए टाइपिंग सीखी थी | तत्कालीन जिला कलेक्टर राघेंद्र सिंह ने मुझे इस काम को शुरू करने में मेरी मदद की हैं |"


By Pooja Soni - 13 Jun, 2018

    Share Via