अफगानिस्तान के शिविर में उमेश पटवाल एकमात्र भारतीय

बल्लेबाजी कोच उमेश पटवाल गुरुवार से बेंगलुरू में खेले जाने वाले भारत के खिलाफ अपने पहले टेस्ट के लिए अफगानिस्तान के शिविर में एकमात्र भारतीय हैं |

मुंबई के कोच को विश्वास हैं कि उनकी टीम अपने पहले टेस्ट मैच में अच्छा प्रदर्शन करेगी | स्पोर्टस्टार से बात करते हुए उन्होंने कहा हैं कि, "चूंकि यह राष्ट्रीय टीम के साथ मेरा तीसरा कार्यकाल है, इसलिए मैं इस बात का गवाह रहा हूँ, कि कौशल-सेट, स्थिरता और आत्मविश्वास के दम पर इस टीम ने कैसे विकास किया हैं | अब इन सभी घटकों को सफ़ेद गेंद से लाल गेंद क्रिकेट में बदलने का समय आ गया हैं | " 

"यह चुनौतीपूर्ण होगा, लेकिन मुझे इस बात में कोई भी संदेह नहीं है कि अफगानिस्तान लंबे प्रारूप में भी सभी को आश्चर्यचकित करेगा | अफगानिस्तान विश्व क्रिकेट में बहुत ही आक्रामक रहा है और ये टेस्ट में भी अपने इसी टैग को बनाये रखेगा |" 

पटवाल ने कहा हैं कि, "एक दशक से इन लड़कों में से कुछ के साथ काम करने के बाद, मुझे इस बात का पता चला है कि उनके लिए टेस्ट क्रिकेट खेलने का क्या अर्थ है | मैं इस ऐतिहासिक मैच में शामिल होने के लिए खुद को बहुत ही भाग्यशाली मानता हूँ |"

पिछले कुछ महीनों से ग्रेटर नोएडा और देहरादून में अफगानिस्तान के प्रारंभिक शिविरों के दौरान, पटवाल अफगानिस्तान के बल्लेबाजों को "गेंदबाजी करने" पर भी दबाव डालने की कोशिश कर रहे हैं |

उन्होंने कहा हैं कि, "मैच में प्रतिस्पर्धा करने की महत्वपूर्ण हैं, मानसिक रूप से चुनौतियों के अनुकूलन होना | बल्लेबाजों को विशेष रूप से, धीरज रखना होगा | हम पिछले कुछ हफ्तों से गेंदों की कुछ संख्या को खेलने के लक्ष्य पर काम कर रहे हैं | मुझे उम्मीद है कि बल्लेबाज अच्छी तरह से योजनाओ को निष्पादित कर सकते हैं |"


By Pooja Soni - 11 Jun, 2018

    Share Via