एरोन फिंच के अनुसार नई ऑस्ट्रेलियाई टीम और नए कॉच के लिए हैं बहुत से अवसर

जब ऑस्ट्रेलिया इस साल की शुरुआत में दक्षिण अफ्रीका के अनौपचारिक दौरे के बाद पहली बार मैदान पर उतरेगा, तो वे अपने दो महत्वपूर्ण खिलाड़ी डेविड वार्नर और स्टीवन स्मिथ की सेवाओं के बिना ही होंगे | 

इंग्लैंड के वर्तमान दौरे के लिए कुछ बड़े बदलाव हुए हैं, जहां उन्हें पांच वनडे और एकमात्र T20I खेलना हैं | यह पहली बार नहीं होगा जब जस्टिन लैंगर मुख्य कोच के रूप में डैरेन लेहमन का पदभार संभालेंगे, लेकिन एक वनडे कप्तान के रूप में पैन के लिए पहली बार होगा | हालांकि, ऑस्ट्रेलिया के दौरे पर एक अनुभवहीन टीम उप-कप्तान एरोन फिंच को परेशान नहीं कर रही हैं |

क्रिकबज की रिपोर्ट के अनुसार फिंच ने अपने नए काम में अच्छा प्रदर्शन करने पर विश्वास जताते हुए कहा हैं कि, "उप-कप्तान होने के नाते आप मैदान पर और मैदान के बाहर उदाहरण के साथ नेतृत्व करते हैं, लेकिन मुझे लगता है कि, एक सलामी बल्लेबाज होने के नाते, आपके पास टीम के लिए टोन  सेट करने का अवसर है, इसलिए इसमें कोई बदलाव नहीं है | लेकिन एक युवा समूह के साथ, बहुत अनुभव तो नहीं है | इसलिए यह टिम, ग्लेन मैक्सवेल और अन्य लोगों के साथ, जो एक समय के लिए आसपास रहे हैं, उनके साथ जितना संभव हो उतना मदद करने के बारे में है |"

31 वर्षीय का दृढ़ता से मानना हैं कि नए चेहरों को टीम में लाया गया, जिससे कि टीम ऊर्जा पहले ही काफी अच्छी नज़र आ रही हैं | उन्होंने कहा हैं कि, "जब भी आप युवाओं को अपने पहले या दूसरे दौरे के लिए टीम में शामिल करते हैं, तब भी यहाँ बहुत उत्साह होता हैं, ये टीम चारो-ओर बहुत सारी ऊर्जा लाते हैं | यहां कुछ लोग हैं, जिनके साथ मैंने पहली बार दौरा किया है | लेकिन हमारा वनडे क्रिकेट पिछले 18 महीनों से दो साल में बहुत अच्छा नहीं रहा हैं, इसलिए ये बात कोई नहीं जानता है, कि अगर हम इन युवाओं को कुछ अवसर देते हैं, तो वे कुछ अद्भुत कर सकते हैं | इस टीम में कुछ ऐसे लोग हैं जो महान खिलाड़ी बनने जा रहे हैं |"

"पिछले कुछ महीनों में बहुत से लोगों ने समय निकलकर प्रयास किया है, जो लोग आईपीएल में नहीं थे, इसलिए क्रिकेट में छाप छोड़ने का यह एक अच्छा मौका है |"

 

 


 


By Pooja Soni - 09 Jun, 2018

    Share Via