IPL 2018 : जहीर खान पक्तीन को आईपीएल 11 में खेलने से चूक जाने की है निराशा

IPL 2018 : जहीर खान पक्तीन को आईपीएल 11 में खेलने से चूक जाने की है निराशा

इस साल इंडियन प्रीमियर लीग की नीलामी में श्रीलंका और बांग्लादेश दोनों के मुकाबले अफगानिस्तान के अधिक खिलाड़ियों को खरीदा गया था | 

मोहम्मद नबी और राशिद खान पिछले साल से ही सनराइज़र्स हैदराबाद की टीम का हिस्सा रहे और इस साल टूर्नामेंट में दो नए खिलाड़ी मुजीबुर रहमान और ज़हीर खान पक्तीन को भी शामिल किया गया |

जहाँ मुजीब को किंग्स इलेवन पंजाब ने अपनी प्रतिभा दिखाने का मौका दिया, वही दूसरी ओर 19 वर्षीय चाइनामैन गेंदबाज, जिसे कि राजस्थान रॉयल्स ने खरीदा, ने दुर्भाग्य से खुद को ही चोटिल कर लिया |  

ज़हीर ने एक प्रसिद्ध लीग से चूक जाने पर अपनी निराशा के बारे में बात की हैं | साथ ही उन्होंने अपनी टीम के साथियों के बारे में भी बात की और उनके समर्थन के लिए कोच की सराहना भी की |

अपने देश के केवल चार खिलाड़ियों में से एक होने के नाते निश्चित रूप से ये उनके लिए एक गर्व का क्षण रहा होगा | अफसोस की बात है, एक असामयिक चोट के कारण उन्हें खेल से दूर होना पड़ा | उन्होंने कहा कि कार्रवाई से बाहर होना, यह वास्तव में निराशाजनक था |

स्पोर्टस्टार से बात करते हुए उन्होंने कहा कि, "यह एक बड़ी लीग है और हर कोई इसमें खेलना चाहता है | जब राजस्थान रॉयल्स ने मुझे चुना तो मैं बहुत उत्साहित था | लेकिन फिर उसके बाद से मेरा जीवन  ऐसे व्यतीत हो रहा हैं |  मुझे पता ही नहीं था कि एक अभ्यास मैच के दौरान एक सामान्य डाइव इस तरह के गंभीर कंधे की चोट का कारण बन जाएगी | डॉक्टर ने मुझसे कहा हैं कि मैं 5-6 सप्ताह तक नहीं खेल पाऊंगा, यह निराशाजनक था |"

राजस्थान रॉयल्स के सलाहकार शेन वॉर्न के बारे में बात करते हुए, उन्होंने स्वीकार किया हैं कि जब से मैं शिविर में शामिल हुआ हूँ, तब से उन्होंने मुझे गेंदबाज़ी करते हुए नहीं देखा हैं | हालांकि, जहीर को दिग्गज  स्पिनर से प्रेरणा लेने के लिए कुछ छोटी-मोटी मुलाकात करने का अवसर जरूर मिला | उन्होंने यह भी बताया कि कप्तान अजिंक्य रहाणे काफी सहायक थे |

खान ने कहा कि, "कोच अच्छे थे | शेन वॉर्न भी | दुर्भाग्य से, मैं शिविर में शामिल होने से पहले ही चोटिल हो गया था, इसलिए उन्होंने मुझे गेंदबाज़ी करते हुए देखा ही नहीं | लेकिन उन्होंने मेरे वीडियो देखे और मुझे बताया कि मैं एक अच्छा गेंदबाज हूँ | उन्होंने मेरे जल्दी ठीक होने के लिए कामना भी की | कप्तान अजिंक्य रहाणे ने मेरा बहुत समर्थन किया हैं | खिलाड़ियों के साथ रहना बहुत ही अच्छा था | मुझे उम्मीद है कि अगले साल भी मेरा चयन किया जाएगा |"

उन्होंने आगे कहा कि, "मुझे कोचों का रवैया पसंद है | वे आपको कभी भी  नकारात्मक बाते नहीं बताएंगे | राजस्थान रॉयल्स के कोच ने मुझे बहुत आत्मविश्वास दिया हैं, जिसके परिणामस्वरूप, मैं नेट पर वास्तव में अच्छी गेंदबाजी कर रहा था | यहां तक ​​कि मुजीब, रशीद को भी अपने संबंधित कोच और कप्तानों से ऐसा ही आत्मविश्वास मिल रहा है | मैं उनसे हररोज़ बात करता हूँ और वे अब तक व्यतीत समय से खुश हैं |"


By Pooja Soni - 16 May, 2018

    Share Via