कागिसो रबाडा के पिता ने अपने बेटे की हरकत को ठहराया गलत

पोर्ट एलिजाबेथ में भारत और दक्षिण अफ्रीका के बीच खेले गए पांचवें वनडे मैच में शिखर धवन को आउट करने के बाद रबाडा ने उन्हें हाथ हिलाकार बाय-बाय का इशारा किया था |

जिसके बाद रबाड़ा की इस हरकत के लिए आईसीसी ने एक्शन लेते हुए उन पर मैच फीस का 15 प्रतिशत जुर्माना लगाया था | रबाडा का यह बर्ताव भारतीय प्रशंसकों को बिल्कुल भी पसंद नहीं आया था |

और अब हाल की Deccan Chronicle की रिपोर्ट के अनुसार इस मामले में कागिसो रबाडा के पिता ने भी बड़ा बयान दिया है | कागिसो के पिता डॉ. मफो रबाडा ने आईसीसी के फैसले का समर्थन करते हुए मैदान पर अपने बेटे की इस हरकत को गलत ठहराया हैं | 

रबाडा के पिता ने कहा हैं कि, "धवन को ऐसा इशारा करना अनावश्यक था | एक खिलाड़ी को कानून के अंदर ही नहीं बल्कि खेल की भावना में भी रहना चाइये, जो कि न्यूनतम मानक से अधिक है | प्रबंधन ने जुर्माना लगाने के लिए मापदण्ड का इस्तेमाल किया और हमें उन संदेहो का लाभ देना होगा कि जैसे कि उनके दिमागों में लागू किया हो और एक मंजूरी मिल जाए, जो कि खेल की भावना में रह्कर ही  मिलती है | मुझे प्रशासकों पर विश्वास है | खिलाड़ी सभी प्रकार की बातें कहते हैं | मैं 100% इसके खिलाफ हूं | हमे गेंदों को ही बात करने देना चाहिए |"

उन्होंने आगे कहा कि, 'मैदान पर रबाडा का ऐसा आक्रामक संकेत गैर जरूरी था | एक व्यक्ति अपने कार्यों के लिए 100 प्रतिशत जिम्मेदार होता है |अफ्रीकी खिलाड़ी कागिसो रबाडा पर लिए गए आईसीसी के फैसले का मैं पूरी तरह सम्मान करता हूँ | अपने बेटे की इस तरह की हरकत के मैं पूरी तरह खिलाफ हूं | मैदान पर एक खिलाड़ी का जोश में रहना एक सीमित दायरे तक ही अच्छा लगता ठीक है, लेकिन इसके बीच उसे अपनी भावनाओ पर कंट्रोल करना चाहिए |"

चौथे वनडे मैच में भारतीय सलामी बल्लेबाज शिखर धवन ने शानदार शतक बनाया था | हालांकि इस मैच में दक्षिण अफ्रीका की टीम जीती थी | वहीं पोर्ट एलिजाबेथ में खेले गए पांचवे मैच मैच में शिखर को जल्दी आउट करने के बाद रबाडा अपना आत्म संतुलन खो बैठे और शिखर धवन को मैदान से बाहर जाने का संकेत दे बैठे |


By Pooja Soni - 16 Feb, 2018

    Share Via