जैक कैलिस के अनुसार विराट कोहली को कप्तान के रूप में अपनी आक्रमकता को थोड़ा कम करने की हैं जरूरत

दक्षिण अफ्रीका के पूर्व आल-राउंडर जैक कैलिस का कहना हैं कि कप्तान विराट कोहली के व्यक्तिगत गेम के लिए उनकी आक्रामकता अच्छी तरह से काम करती है, लेकिन जब नेतृत्व की बात आती है तो हो सकता हैं कि उन्हें अपने 'लहजे को थोड़ा सा कम' करना पड़े |  

दक्षिण अफ्रीका दौरे के पहले दौर में, एक कठिन दौर से गुजरते हुए कोहली को काफी आलोचनाओं का सामना करना पड़ा था, क्योंकि उनकी टीम पहले दो टेस्ट मैचों में हार गई थी |

हिन्दुस्तान टाइम्स की रिपोर्ट के अनुसार सेंट मॉरीट्स में आइस क्रिकेट के दौरान कैलिस ने कहा हैं कि, "वह आक्रामक प्रवृति के हैं और ये उनके खेल के लिए अच्छा हैं | लेकिन उन्हें इस बात पर सोचना चाहिए कि जो आक्रामकता उनके लिए काम करती हैं, क्या वही उनकी टीम के लिए भी काम करती हैं और टीम पर क्या छाप छोड़ती हैं | वे वहां अपनी आक्रामकता को कम कर सकते हैं | ज़ाहिर हैं कि उनका आक्रामक स्वाभाव उन्हें मदद करता है और उनके खेल को निखरता हैं, और ये उन्हें बदलना नहीं चाहिए |"

उन्होंने कहा कि, "एक नेता के रूप में कभी-कभी आप हमेशा आक्रामक नहीं हो सकते हैं, जैसा कि वे होते हैं, वह एक ऐसा क्षेत्र है, जो वह काम करेगा | वह अभी भी अपनी कप्तानी में युवा है | मुझे यकीन है कि वह थोड़े पुराने हो जायेंगे तो, वे ज्यादा से ज्यादा शांत हो जायेंगे | लेकिन वह स्पष्ट रूप से बहुत आवेशपूर्ण है और यह देखना अच्छा है |"

कैलिस ने बताया कि कोहली के नेतृत्व वाली टीम को अपने रिकार्ड में सुधार करना चाहिए | उन्होंने कहा कि, "टेस्ट में मिली हार के बाद यह एक ऐसा क्षेत्र हैं, जंहा भारत को शायद अपने रिकार्ड में सुधार करने कोशिश करनी चाहिए | खासतौर पर विकेट पर, जिस पर उन्हें उन्हें उपयोग किए जाने की तुलना में थोड़ा अधिक काम करना चाइये | लेकिन ऐसा लगता है कि वे अब भी  प्रगति कर रहे हैं और इससे बेहतर कर रहे हैं | मुझे यकीन है कि उन्हें दक्षिण अफ्रीका में बहुत कुछ सीखना होगा |"

भारतीय तेज गेंदबाजी आक्रमण की सराहना करते हुए कैलिस ने कहा कि, "उन्होंने जोहान्सबर्ग टेस्ट में अच्छे क्षेत्रों में गेंद मारी हैं, ये वैसा ही जैसा कि आप विदेशी परिस्थितियों में करते हैं | आप स्पष्ट रूप से पिछले दौरे से सीखते हैं और ऐसा लग रहा है कि उन्होंने दक्षिण अफ्रीका को दबाव में रखा है |"

कैलिस ने कहा कि आशंका हैं कि लेग स्पिनर अगले साल के आईसीसी विश्वकप में बड़ी भूमिका निभा सकते हैं | कैलिस ने कहा कि, "लेग स्पिनर या रहस्य स्पिनर का होना वास्तव में महत्वपूर्ण है | यह गेंदबाजी आक्रमण को थोड़ा अधिक बढ़ाता है | कुलदीप यादव और यज्वेंद्र चहल ने अच्छा प्रदर्शन किया  | उन्होंने दक्षिण अफ्रीका को दबाव में रखा | मुझे लगता है कि कलाई के स्पिनर एक बड़ी भूमिका निभा रहे हैं |"

कैलिस ने अनुमान लगाया था कि दक्षिण अफ्रीका को अधिक गहराई की आवश्यकता है और कहा कि "मुझे लगता है कि दक्षिण अफ्रीका को इस बात का एहसास हुआ है कि हमें थोड़ी अधिक गहराई की आवश्यकता है, खासकर कि जब हमें कुछ चोटें मिलती हैं | इसमें कोई बुरी बात नहीं हैं, यह कुछ युवाओं को अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में उजागर कर सकती है और उम्मीद करते हैं कि वे इससे बहुत कुछ सीखेंगे |"

कैलिस, जो आगामी IPL 2018 संस्करण में भी कोलकाता नाइट राइडर्स के साथ अपने सहयोग को जारी रखेंगे, ने कहा हैं कि गहन नीलामी के बाद टीम अच्छी तरह से संतुलित है | पूर्व खिलाडी ने कहा हैं कि, "हाँ, मैं आईपीएल की तरफ ध्यान दे रहा हूं | यह एक दिलचस्प नीलामी थी और अधिकांश टीम अछि तरह से संतुलित भी थी | जिस तरह नीलामी हुई हैं, उसे से सभी टीमें अच्छी तरह से संतुलित हैं |"


By Pooja Soni - 14 Feb, 2018

    Share Via