कप्तान विराट कोहली पर भारत की अधिक निर्भरता से परेशान हैं क्रिस श्रीकांत

क्रिस श्रीकांत

पूर्व भारतीय कप्तान क्रिस श्रीकांत का मानना है कि टीम का सिर्फ विराट कोहली पर निर्भर रहना, कि हमेशा वह ही टीम को मुश्किल परिस्तिथियों से निकाले, या फिर कुलदीप और चहल पर भरोसा रखना कि वे विकेट लेते रहेंगे, चिंताजनक होता जा रहा हैं, वे भी तो जब भारत इस साल घर से बाहर सीरीज खेलेंगे |
 
दक्षिण अफ्रीका में चल रही 6 वनडे सीरीज में भारत की टीम ने 3-0 की बढ़त हासिल कर ली, जबकि कप्तान ने तीनो मैच में अब तक 112, 46 * और 160 * रन बनाए और चहल और यादव ने भारत के लिए 28 विकेटों में से 21 विकेट लिए हैं | टीओआई के लिए अपने कॉलम में श्रीकांत ने भारत के लिए प्रतिबद्धता के संदर्भ में सचिन तेंदुलकर, राहुल द्रविड़ और अनिल कुंबले के रूप में एक ही लीग में कोहली को संयोजित किया हैं, लेकिन चिंता कि बात ये हैं कि जब कप्तान असफल रहेगा तो क्या होगा |

उन्होंने कहा हैं कि, "कोहली के बारे में पर्याप्त कहा गया है और लिखा गया हैं | वह जो नैतिक रूप से शानदार काम कर रहे हैं, वह वास्तव में उन्हें सबसे अलग करता हैं | उन्हें पिछले दो दशकों में भारत के सबसे प्रतिबद्ध क्रिकेटरों में से एक देखा जा रहा हैं | उस सूची में तेंदुलकर, द्रविड़ और कुंबले भी हैं |मेरी राय में, जब प्रतिबद्धता के बारे में बात होती हैं तो, तब कोहली सबसे अच्छे के साथ सही होते हैं | प्रदर्शन में उनका मिज़ाज असाधारण है |"
 
उन्होंने कहा हैं कि, "कोहली की प्रतिभा में और क्या शामिल किया जा सक्या हैं, वह शायद कभी शिकायत नहीं करते हैं | हालात या मैच परिस्थितियों में शायद ही उससे भागते हो | वह एक पूर्ण बल्लेबाज के सबसे करीब है, जिसे हम देखने की उम्मीद कर सकते हैं | उनकी 160 की पारी उनकी सबसे बेहतरीन पारी थी | लेकिन मुझे यकीन है अगले कुछ वर्षों में वे इससे भी बेहतर होंगे |"

"जैसा कि मैंने भारत के प्रभावशाली प्रदर्शन का आनंद उठाया है, साथ ही मैं कोहली पर अधिक निर्भरता पर भी चिंतित हूं | बल्लेबाजी एक इकाई के रूप में  करने में असफल रही है और यह चिंता का कारण है | यदि कप्तान ख़राब खेलता हैं, तो पूरी टीम कुछ अलग ही नज़र आएगी |" 

 
 


By Pooja Soni - 10 Feb, 2018

    Share Via